शुक्रवार, 20 मई 2011

रास्ता नहीं पता

भगावन ने अपने क्लास के दोस्त बुधना से कहा, “चलो यार रेस लगाते हैं। जो हारेगा वह आइस क्रीम 
खिलाएगा।” बुधना ने कहा, “चल ठीक है। पर कहां तक जाना होगा।” भगावन ने कहा, “बस यहां से 
कम्बाइन्ड बिल्डिंग तक।” बुधना ने अपनी परेशानी ज़ाहिर की, “मुझे कम्बाइन्ड बिल्डिंग का रास्ता 
नहीं पता।” भगावन ने कहा, “कोई बात नहीं, बस तू मेरे पीछे-पीछे रहना। पहुंच जाओगे कम्बाइन्ड 
बिल्डिंग।” बुधना ने कहा, “थैन्क्स यार!”

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Twitter Bird Gadget